Nectar Of Wisdom

डा. अतुल गावंडे ने अपनी किताब “The Checklist Manifesto : How to get things right” में सही ही कहा है कि आज के समय में किसी भी विषय पर सामूहिक ज्ञान इतना अधिक हो गया है कि किसी एक व्यक्ति के पास उसको सही, लगातार और सुरक्षित तरीके से बाटने की योग्यता नहीं है । बीसवीं सदी के दूसरी पारी तक हमारे पास विशेषज्ञों से ज़यादा अनेक विषयों की जानकारी रखने वाले समान्यज्ञ (जेनरेलिस्ट) होते थे । पिछले ५० वर्षों में मनुष्य का ज्ञान इतना बढ़ा है कि कोई भी एक व्यक्ति सभी विषयों का ज्ञानी नहीं हो सकता । या तो आपको कोई किसी एक विषय को चुनना होगा या किसी एक क्षेत्र में स्वामित्व बनाने पर विचार करना होगा । गणित, भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान, व्यापार या विपणन, साहित्य या किसी भी चुने गए क्षेत्र में स्वामित्व हासिल करने के लिए वर्षों के समर्पण की आवशयकता होती है ।

चाहे कोई ऊँची इमारत बनाना हो, फिल्म बनाना हो, रोज़ हजारों कार बनाना हो, जीवन बचाने के लिए शल्य चिकित्सा करना हो, हवाई जहाज बनाना हो, चाँद पर राकेट भेजना हो या साधारण से केक को बेक करना हो, इनमे से किसी भी कार्य को पूरा करने के सफल प्रयास के लिए विशेषज्ञता, विभिन्न सूत्रों का इनपुट तथा एक ही समय में उन सबके समन्वय रखने की क्षमता की आवशयकता होती है । समय, बजट, आवशयक मात्रा, उचित सुरक्षा के साथ परियोजना को पूरा करने के लिए सूक्षम योजना, समन्वय एवं निगरानी बहुत महत्वपूर्ण है ।

किसी भी कार्य या परियोजना को सूची बद्ध ढंग से, मिलकर, समन्वय के साथ , जांच करने या  निगरानी करने के लिए हर व्यवसाई के लिए टू डू लिस्ट बहुत महतवपूर्ण है । इसको टास्क लिस्ट, टू डू लिस्ट, चेक लिस्ट, सूची या एजेंडा भी कहा जा सकता है । यह नियंत्रण के लिए बहुत ही महतवपूर्ण अस्त्र है जिसकी सहायता से प्राथमिकता के आधार पर कार्य निच्शित करता, उसपर अमल को सुनिच्शित करना तथा   गलतियों को दूर करने में मदद मिलती है । और सबसे अच्छी बात यह है कि यह बहुत आसान है और इसके लिए आपको अधिक जद्दो जेहद भी नहीं करनी पड़ती ।

रोज एक टू डू लिस्ट बनाने से आपके द्वारा किये जाने वाले कार्य या उक कार्य निश्चित कर लिए जाते है जिससे उन्हें समय के भीतर तथा बिना अड़चन के पूर्ण करना संभव हो पाता है । टू डू लिस्ट का रोज रिव्यु तथा फॉलो अप करने से पता चलता है कि काम में होने वाली साधारण गलतियां नहीं होती आपका कार्य योजनाबद्ध तरीके ससे पूर्ण होता है और आप धीरे धीरे परफेक्शन की और अग्रसर होते है । जब आपको अपने कार्य में कोई एडजस्टमेंट या मॉडिफिकेशन करना हो तो वो भी आप बड़ी आसानी से कर सकते है । कम शब्दों में कहा जाए तो यह एक दो मुहा शस्त्र है जिसमे तलवार और रक्षा कवच दोनों समाहित है जिससे हमारी कार्य को मूर्त रूप देना आसान होता जाता है और हमारे सामने अप्रताषित समस्याएँ भी नहीं आती

डू लिस्ट बनाने और फॉलो करने की ५ टिप्स :

  • सबसे पहले आपके कार्य को पूरा करने के लिए जिन एजेंसीज / लोगों या एक्शन की ज़रूरत है उनकी पहचान करें ।
  • पहचान की बाद जितने भी जुड़े हुए लोग हों उन्हें अपने अधीनस्थ लोगों के साथ बैठ कर एक टास्क लिस्ट बनाने को कहे और उसे संयोजक के पास भेजें ।
  • जटिलता के आधार पर सभी एक्टिविटी  को पूरा करने के लिए सॉफ्टवेर या मैन्युअल चार्ट बनें बनाइये ।
  • सभी लोगों को अपनी टू डू लिस्ट को रोज़ समीक्षा तथा अपडेट करना होगा और अगर ज़रूरत हो तो उसमे सुधार करना होगा ।
  • सभी जुड़े लोगो से संवाद बनाए रखने के लिए इन्टरनेट या इंट्रानेट का प्रयोग करें ।

सूचीबद्धकर लीजिये, अपने सारे काम ।
समाधान व् पूर्णता, पातेलक्ष्य तमाम । ।

For English Blog: http://nectarofwisdom.in/to-do-list-a-tool-towards-perfectionism/

Share on Whatsapp

    Etiam magna arcu, ullamcorper ut pulvinar et, ornare sit amet ligula. Aliquam vitae bibendum lorem. Cras id dui lectus. Pellentesque nec felis tristique urna lacinia sollicitudin ac ac ex. Maecenas mattis faucibus condimentum. Curabitur imperdiet felis at est posuere bibendum. Sed quis nulla tellus.

    ADDRESS

    63739 street lorem ipsum City, Country

    PHONE

    +12 (0) 345 678 9

    EMAIL

    info@company.com

    Nectar Of Wisdom